टेकिप-III (विवरण)

देश में अभियांत्रिकी शिक्षा की गुणवत्ता को मजबूत करने के संकल्प से टेक्निकल एजुकेशन क्वालिटी इंप्रूवमेंट प्रोग्राम (टीईक्यूआईपी) को शुरु किया गया है। उत्तर प्रदेश टीईक्यूआईपी फेज I एवं II का हिस्सा रहा है। परियोजना का उद्देश्य चयनित संस्थानों में स्वायत्तता प्राप्त कराने हेतु सहायता प्रदान करना है एवं अपने संस्थानों में शिक्षा के उच्च मानकों को स्थापित करना है, जैसा की मान्यता निकायों द्वारा निर्देशित हैं। टीईक्यूआईपी III की शुरुआत अप्रैल 2017 में हुई थी, जो सेक्टर में शासन एवं प्रदर्शन को सम्मिलित करता है। संबद्ध तकनीकि विश्वविद्यालय (एटीयू) के समावेश एवं ट्विनिंग प्रबंधन क्षमता वर्धन को सुनिश्चित करता है एवं परियोजना संस्थाओं की निती, शैक्षणिक एवं प्रबंधन प्रक्रियाओं को सुनिश्चित करता है। मान्यता, स्वायत्तता, ड्रॉपआउट दर, वंचित समूहों का प्रवेश, फैकल्टी भर्तियां एवं अनुसंधान एवं परामर्श परियोजनाएं के क्षेत्र में परियोजना संस्थानों हेतु सुधार। एटीयू द्वारा सुधारों को आकलन एवं परीक्षा, शैक्षणिक, छात्र प्लेसमेंट, कार्मिक प्रबंधन एवं सुधार डाटा प्रबंधन एवं प्रशासन में क्रियान्वयन किया जाएगा। राज्य परियोजना क्रियान्वयन इकाई (एसपीआईयू)- उत्तर प्रदेश एक ऐसी इकाई है जो टेक्निकल एजुकेशन क्वालिटी इंप्रूवमेंट प्रोग्राम (टीईक्यूआईपी), फेज III को उत्तर प्रदेश राज्य में क्रियान्वयन करने के लिए स्थापित करी गई है। एसपीआईयू-यूपी का अवलोकन स्टेट स्टियरिंग समिति द्वारा किया जाता है, जिसकी अध्यक्षता श्री भुवनेश कुमार, प्रमुख सचिव, तकनीकि शिक्षा, उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा करी जाती है।
स्टेट स्टियरिंग समिती की संरचना निम्न प्रकार है:-

  • प्रमुख सचिव/सचिव जो अभियांत्रिकी शिक्षा हेतु अध्यक्ष के रूप में उत्तरदायी हैं;
  • राज्य विभाग का वित्तीय नियंत्रक, जो राज्य/केंद्र शासित प्रदेश में अभियांत्रिकी शिक्षा के साथ संबंधित हो या उसका नामित व्यक्ति हो;
  • निदेशक या समकक्ष, उच्च शिक्षा विभाग, एमएचआरडी या नामित;
  • स्टेट प्रोजेक्ट एडमिनिस्ट्रेटर, राज्य परियोजना क्रियान्वयन इकाई (एसपीआईयू) के प्रमुख के तौर पर;
  • दो उद्योग सदस्य, जिन्हें प्रमुख उद्योग द्वारा नामित किया गया है;
  • दो सदस्य, अभियांत्रिकी शिक्षा में मान्यता प्राप्त विशेषज्ञता एवं रुचि, राज्य सरकार द्वारा नामित
  • राज्य निजी सेक्टर सलाहकार समूह (एस-पीएसएजी) का एक नामांकित व्यक्ति, वैकल्पिक, एवं
  • राज्य में अभियांत्रिकी शिक्षा हेतु निदेशक, बतौर सदस्य-सचिव

पृष्ठ नाम: परियोजना डिजाइन
टीईक्यूआईपी III गुणवत्ता बढ़ाने एवं इंजीनियरिंग शिक्षा संस्थानों के भाग लेने में इक्विटी एवं प्रमुख राज्यों में अभियांत्रिकी शिक्षा प्रणाली की दक्षता को बढ़ाने के लिए अग्रसर है। परियोजना दो घटकों को सहायता प्रदान करता है: 

घटक - 1:  प्रमुख राज्यों में अभियांत्रिकी संस्थानों की गुणवत्ता सुधार

    • उप-घटक 1.1: सहभागी संस्थानों हेतु संस्थागत विकास का आकलन किया गया एवं उत्तर प्रदेश राज्य के लिए 16 संस्थाओं का चयन किया गया है।
    • उप-घटक 1.2: प्रमुख राज्यों में एटीयू द्वारा परियोजना के प्रभाव का विस्तार
    • उप-घटक 1.3: क्षमता वर्धन हेतु ट्विनिंग प्रबंधन एवं सहभागी संस्थाओं एवं एटीयू संस्थाओं (पहले ही टीईक्यूआईपी-I एवं/या II में भागीदार) की कार्यशैली को बेहतर बनाना एवं एटीयू प्रस्तावित आईडीपी के आधार पर किया जाता है। इसमे ट्विनिंग प्रबंधन हेतु मेंटरिंग प्रणाली स्थापित करना सम्मिलित है जिससे क्षमता वर्धन हो सके एवं उप-घटक 1.1/1.2 के अंतर्गत सहभागी संस्थाओं/एटीयू के प्रदर्शन में क्रमशः सुधार करना।
  • घटक – 2 : प्रणाली स्तर पहल ताकि प्रमुख शीर्ष निकायों द्वारा अभियांत्रिकी शिक्षा में सेक्टर शासन एवं प्रदर्शन को मजबूत किया जा सके, जिसमे एआईसीटीई एवं एनबीए शामिल हैं, जिससे संपूर्ण अभियांत्रिकी शिक्षा प्रणाली को मजबूत बनाया जा सकेगा।

पृष्ट का नाम: प्रतिभागी
प्रतिभागी संस्थान (कुल रु. 180 करोड़)

क्रम संख्या 1.1 संस्थान आवंटित फंड  (करोड़ में) 1.3 संस्थान आवंटित फंड (करोड़ में)
1 इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एण्ड टेक्नोलॉजी, लखनऊ 15 पॉंडीचेरी इंजीनियरिंग कॉलेज, पुडुचेरी 7
2 उत्तर प्रदेश टेक्सटाइल टेक्नोलॉजी इंस्टीट्यूट, कानपुर 10 यूनिवर्सिटी डिपार्टमेंट ऑफ केमिकल टेक्नोलॉजी, नॉर्थ महाराष्ट्र यूनिवर्सिटी, जलगांव 7
3 राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज, बिजनौर 10 बसवेश्वर इंजीनियरिंग कॉलेज, बागलकोट 7
4 राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज, अंबेडकर नगर 10 वाईएमसीए इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग, फरीदाबाद, हरियाणा 7
5 दयालबाग एजुकेश इंस्टीट्यूट (डीम्ड विश्वविद्यालय), आगरा 10 जेएनटीयू इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एण्ड टेक्नोलॉजी, हैदराबाद, तेलंगाना 7
6 राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज, बांदा 10 नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग, मायसोर 7
7 उमा नाथ सिंह इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एण्ड टेक्नोलॉजी, वीबीएस पूर्वांचल विश्वविद्यालय, जौनपुर 10 पीईएस कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, मांड्या 7
8 राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज, आजमगढ़ 10 जीईसी कारद 7
9 इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी, बुंदेलखंड विश्वविद्यालय, कानपुर रोड, झांसी 10 एफईटी, गुरु जंबेश्वत विश्वविद्यालय ऑफ साइंस एण्ड टेक्नोलॉजी, हिसार, हरियाणा 7
10 इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी, खंदारी, आगरा 10 पीईटी, दीनबंधु छोटूराम यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एण्ड टेक्नोलॉजी, मरुथल, हरियाणा 7
11 कमला नेहरू इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, सुलतानपुर 15 एमएनआईटी, इलाहाबाद 7
12 मदन मोहन मालवीय यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी, गोरखपुर 15 एसवीएनआईटी, सूरत 7
13 फैकल्टी ऑफ इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी, एमजेपी, रोहिलखंड यूनिवर्सिटी, बरेली 10 बीएमएस कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, बैंगलोर 7
14 बुंदेलखंड इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एण्ड टेक्नोलॉजी, झांसी 15 एच.के.ई.एस’एस पीडीए कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, गुलबर्गा 7
15 इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी, आरएमएल अवध यूनिवर्सिटी, फैजाबाद 10 डॉ. अंबेडकर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, बैंगलोर 7
16 हरकोर्ट बटलर टेक्निकल (पूर्व में एचबीटीआई), कानपुर 15 थियागराजर कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, मदुरई, तमिलनाडु 7