डिग्री सेक्टर

संगठन संरचना

डिग्री स्तर की संस्थाओं का प्रशासनिक नियंत्रण

प्राविधिक विश्वविद्यालय

यूपीटीयू की स्थापना वर्ष 2000 में हुई थी ताकि उत्तर प्रदेश में डिग्री स्तरीय प्राविधिक शिक्षा को संचालित किया जा सके। वर्ष 2010 में इसे गौतम बुद्ध प्राविधिक विश्वविद्यालय, लखनऊ एवं महामाया प्राविधिक विश्वविद्यालय, नोएडा में विभाजित कर दिया गया। वर्तमान में यह डा0 ए0पी0जे0 अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय, उ0प्र0 लखनऊ के नाम से जाना जाता है। इस विश्वविद्यालय का मुख्य कार्य प्रदेश में स्थापित ऐसे निजी एवं सरकारी संस्थान जो बी0टेक0/बी0फार्मा0/बी0आर्क0/एम0बी0ए0/एम0सी0ए0/होटल मैनेजमेंट/एम0फार्मा0/ एम .आर्क एवं एम0टेक पाठ्यक्रम संचालित करते हैं, को सम्बद्धता प्रदान करना, प्रवेश एवं परीक्षा आयोजित करना, पाठ्यक्रम को निर्धारित करना तथा परीक्षा के उपरान्त अध्ययनरत छात्रों को डिग्री प्रदान करना है।
मदन मोहन मालवीय इंजीनियरिंग कालेज, गोरखपुर को रूड़की विश्वविद्यालय की भांति मदन मोहन मालवीय प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, गोरखपुर बनाया गया है जो दिनांक 01.12.2013 से क्रियाशील है।
हरकोर्ट बटलर टेक्नोलाजीकल इंस्टीट्यूट (एच0बी0टी0आई0), कानपुर को उपर्युक्त की भांति हरकोर्ट बटलर प्राविधिक विश्वविद्यालय, कानपुर बनाया गया है जो दिनांक 01.09.2016 से क्रियाशील है।

डिग्री स्तर की संस्थाओं का गठन

शासकीय सहायता प्राप्त इंजीनियरिंग कालेजों की व्यवस्था तथा संचालन का दायित्व संस्था प्रमुख का होता है। उसकी सहायता के लिए रजिस्ट्रार तथा वित्त अधिकारी के पद सृजित हैं। संस्था में कार्यरत अधिकारियों/कर्मचारियों की संख्या (परिशिष्ट-1)में दी गई है।

पाठ्यक्रम में प्रवेश प्रक्रिया

डिग्री स्तर की संस्थाओं में छात्रों का प्रवेश संयुक्त प्रवेश परीक्षा के अन्तर्गत उत्तर प्रदेश राज्य अभियंत्रण प्रवेश परीक्षा प्रभाग द्वारा आयोजित किया जाता है जिसमें सम्मिलित होने के लिये न्यूनतम योग्यता विज्ञान/गणित विषयों के साथ इण्टरमीडिएट अथवा समकक्ष है।स्नातकोत्तर स्तर के पाठ्यक्रमों जैसे एमबीए, एमसीए हेतु योग्यता स्नातक है। एम.टेक, एम.फार्मा, एम.आर्क प्रवेश हेतु विश्वविद्यालय द्वारा एक प्रथक परीक्षा का आयोजन किया जाएगा।
शिक्षण सत्र 2003-04 तक बी0टेक, बी0फार्मा, बी0आर्क0 तथा होटल मैनेजमेंट से सम्बन्धित संस्थाओं में प्रवेश यू0पी0 सीट के माध्यम से किये गये थे तथा एम0सी0ए0 एवं एम0बी0ए0 पाठ्यक्रम में प्रवेश यू0पी0एम0 कैट द्वारा कराया गया था। माह दिसम्बर, 2003 में यू0पी0 सीट एवं यू0पी0एम0 कैट को भंग कर प्रवेश का कार्य डा0 ए0पी0जे0 अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय, उ0प्र0 लखनऊ को सौंपा गया। फलस्वरूप डा0 ए0पी0जे0 अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय द्वारा सत्र 2016-17 हेतु उ0प्र0 राज्य प्रवेश परीक्षा का आयोजन कर बी0टेक, बी0फार्मा, बी0आर्क तथा होटल मैनेजमेंट के पाठ्यक्रमों हेतु चयन कराकर 30,000 अभ्यर्थियों को प्रवेश दिलाया गया।

अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक वर्ग एवं आर्थिक दृष्टि से कमजोर सामान्य वर्ग के छात्रों के लिये सुविधायें

प्राविधिक शिक्षा विभाग के अन्तर्गत चल रही समस्त डिग्री स्तरीय संस्थाओं में प्रवेश हेतु अनुसूचित जाति के अभ्यर्थियों के लिये 21 प्रतिशत एवं अनुसूचित जनजाति के अभ्यर्थियों के लिये 02 प्रतिशत तथा अन्य पिछड़े वर्ग के अभ्यर्थियों के लिये 27 प्रतिशत आरक्षण की व्यवस्था है। अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं आर्थिक दृष्टि से कमजोर सामान्य वर्ग के पात्र छात्रों को समाज कल्याण विभाग, अन्य पिछड़े वर्ग के छात्रों को पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग एवं अल्पसंख्यक वर्ग के छात्रों को अल्पसंख्यक कल्याण विभाग से छात्रवृत्ति भी प्रदान की जाती है।