उपलब्धियां

  • सत्र 2017-18 से चार पाठ्यक्रमों को छोड़कर प्रथम, द्वितीय व अंतिम वर्ष में एक साथ सेमेस्टर परीक्षा प्रणाली लागू की गयी है।
  • केन्द्रीय मूल्यांकन के माध्यम से उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन किया जा रहा है।
  • पर्सनालिटी डेवलपमेंट, इंग्लिश स्पीकिंग एवं कम्युनिकेशन स्किल डेवलपमेंट तथा कम्प्यूटर शिक्षा पर विशेष बल दिया जा रहा है।
  • सभी संस्थाओं में वेबसाइट का विकास किया गया।
  • गोरखपुर में दिनांक 29 व 30 जून, 2017 को जॉब फेयर का आयोजन किया गया जिसमें गोरखपुर मण्डल की विभिन्न पॉलीटेक्निक संस्थाओं के 868 छात्र-छात्राओं ने भाग लिया। इनमें से 241 छात्र छात्राओं का विभिन्न कम्पनियों में चयन हुआ है।
  • प्राविधिक शिक्षा परिषद द्वारा परीक्षा आवेदन-प९९९ की ऑन-लाइन व्यवस्था, फोटो युक्त अंकपत्रों का निर्गमन एवं ऑनलाइन प्रवेश पत्र की उपलब्धता, ऑनलाइन वेरीफिकेशन कार्ड जारी किये जा रहे हैं।
  • निर्माण कार्यो को गुणवत्तापूर्ण ढंग से पूर्ण कराने हेतु शासन/निदेशालय स्तर पर प्रतिमाह समीक्षा बैठक की जाती है।
  • महिलाओं की सहभागिता बढ़ाने, जेण्डर गैप पूर्ण करने हेतु छात्राओं के लिये महिला छात्रावासों का निर्माण, प्रवेश में 20 प्रतिशत क्षैतिज आरक्षण का प्रावधान किया गया है।
  • संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद उ०प्र० लखनऊ में प्रवेश हेतु ऑनलाइन आवेदन करने की व्यवस्था लागू है।
  • वर्चुअल क्लास के अन्तर्गत आई.आर.डी.टी. एवं राजकीय पॉलीटेक्निक, गाजियाबाद में स्थापित ई.एम.आर.सी. सेन्टर्स के माध्यम से संस्थाओं में सजीव व्याख्यान प्रसारित कर छात्र/छात्राओं को लाभान्वित किया जा रहा है तथा विभागीय वेबसाइट पर छात्रों के उपयोगार्थ उपलब्ध है।
  • प्राविधिक शिक्षा को बढ़ावा देने तथा अधिकाधिक युवकों/युवतियों को तकनीकी शिक्षण-प्रशिक्षण प्रदान करने हेतु 07 नवीन पॉलीटेक्निकों की स्थापना की गयी है।
  • महिलाओं की सहभागिता बढ़ाने हेतु "सक्षम बालिका-सम्पन्न परिवार" योजना लागू की गयी है।